places to visit in gorakhpur | गोरखपुर में घूमने के जगह-

places to visit in gorakhpur | गोरखपुर में घूमने के जगह- गोरखपुर एक मंडल है जिसे हम मुख्यमंत्री का शहर भी कहते है क्युकी वर्तमान समय में जो मुख्यमंत्री है योगी आदित्यनाथ जी महाराज वो गोरखपुर में रहते है गोरखपुर इस समय बहुत ही ज्यादा विकास करता हुआ शहर है लखनऊ से लगभग 261 किलोमीटर की दुरी पर स्थित गोरखपुर एक बहुत ही खुबसूरत शहर जहाँ आपको घुमने के लिए अनेको जगह मिलेंगे तो आइये अब हम बात करते है गोरखपुर में घुमने वाले जगहों के बारे में –

गोरखपुर रेलवे स्टेशन Gorakhpur Railway Station
तारामंडल गोरखपुर Taramandal In Gorakhpur
नौका विहार गोरखपुर Ramgadh Taal Gorakhpur
प्राणी उद्यान गोरखपुर Zoo In Gorakhpur
गोरखनाथ मंदिर Gorakhnath Temple
विन्ध्वासिनी पार्क  Vindhyavasini Park
रेलवे संग्रहालय Railway Museum
कुसम्ही जंगल गोरखपुर Forest In Gorakhpur
गोरखपुर हवाई अड्डा Gorakhpur Airport
बुढिया माता मंदिर Budhiya Mata Temple

tourist place in gorakhpur | gorakhpur area | गोरखपुर में घूमने के जगह- 

समय बचाने के लिए,click here

Gorakhpur Railway Station |गोरखपुर रेलवे स्टेशन –

places to visit in gorakhpur – गोरखपुर रेलवे स्टेशन जिसे विश्व का सबसे लम्बा रेलवे प्लेटफार्म भी माना जाता है जिसकी लम्बाई 4483 फिट (1366.33 मीटर ) है  रात के समय में यह रेलवे स्टेशन जगमगाता हुआ दिखाई पड़ता है मानो जैसे यहाँ की  हर शाम दिवाली की शाम को जो दिखने में बहुत ही खुबसूरत दिखाई देता है .

gorakhpur railway station night time
gorakhpur railway station night time

places to visit in gorakhpur | गोरखपुर में घूमने के जगह
gorakhpur railway station

Places To Visit In Gorakhpur Taramandal | तारामंडल  गोरखपुर –

places to visit in gorakhpur -अगर आप तारो के या ब्रम्हांड के बारे में जानने की इच्छा रखते है तो आप तारामंडल जरुर जाएँ क्युकी वहाँ पर ब्रम्हांड के बारे में और ग्रहों के बारे में अच्छी से अच्छी जानकारी दी जाती जाती है यह गोरखपुर रेलवे स्टेशन से लगभग 5 किमी की दुरी पर स्थित है

places to visit in gorakhpur | गोरखपुर में घूमने के जगह-
Gorakhpur-Taramandal

Best place for couples in Gorakhpur | Nauka Vihar Ramgarh Taal-

Places to visit in gorakhpur | गोरखपुर में घूमने के जगह – रामगढ ताल जो की 1800 एकड़ क्षेत्र में फैला हुआ है यह गोरखपुर का सबसे प्रसिद्ध जगहों में से एक है नौका विहार और यहाँ प्रतिदिन कपल भी आते है क्युकी यह गोरखपुर का सबसे रोमांटिक जगह भी माना जाता है अगर आप यहाँ घूमना चाहते है तो आप शाम के समय में यहाँ आ सकते है

क्युकी यहाँ की शाम मानो जैसे मुंबई का मरीन ड्राइव हो यहाँ पर आपको खाने के लिए भी बहुत सी चीजे मिलेंगी और साथ ही में आप नौका विहार पर बोट राइडिंग का भी मज़ा ले सकते है जिसका कीमत लगभग 100 रू है क्युकी जब मै 1 महीने पहले गया था तो उस समय वहाँ बोट राइडिंग की कीमत 100रू ही थी वर्तमान समय में इसकी कीमत में कुछ बदलाव हो सकते है 

places to visit in gorakhpur | गोरखपुर में घूमने के जगह-
Ramgarh tal gorakhpur

 

नौका विहार में बोट राइडिंग की कीमत –

नौका विहार में बोट राइडिंग करने के लिए आपको 100 रू देने है होते क्युकी जिस समय मै गया था तो मैंने 100 रू ही दिए थे अगर आप राइडिंग करने के लिए जाते है तो सबसे पहले तो आपको सेफ्टी से साथ बोट में बैठाया जाता है और फिर लगभग एक  किलोमीटर की रेंज में आपको बोट की राइडिंग कराई जाती है जहाँ से आपको एक बेहद ही खुबसूरत नज़ारा देखने को मिलता  है 

places to visit in gorakhpur
Nauka vihar

places to visit in gorakhpur
Nauka Vihar gorakhpur

couple friendly places in gorakhpur  |  Vindhyvasini Park gorakhpur  | विन्ध्वासिनी पार्क  गोरखपुर –

यह पार्क रेलवे स्टेशन से लगभग 3किमी की दुरी पर स्थित है जहां प्रतिदिन बहुत कपल जोड़े भी जाते है इस पार्क की स्थापना 1952 ई. में हुआ था तथा यह विन्ध्वासिनी पार्क 35 एकड़ के  में फैला हुआ है एक बहुत ही खुबसूरत पार्क है जहां लोग सुबह- सुबह टहलने , कसरत करने के लिए भी जाते है

couple friendly places in gorakhpur | Vindhyvasini Park gorakhpur | विन्ध्वासिनी पार्क गोरखपुर –
Vindhyvasini Park gorakhpur

places to visit in gorakhpur
विध्यवासिनी पार्क गोरखपुर

zoo in gorakhpur | गोरखपुर प्राणी उद्यान – 

गोरखपुर में प्राणी उद्यान का उद्घाटन 27 मार्च को हुआ था जिसका नाम अशफ़ाक उल्ला  ख़ाँ प्राणी उद्यान है और ये आप लोगो के लिए बहुत बड़ी खुशखबरी है की अब आप लोग अपने पूर्वांचल में ही चिड़ियाघर घूम सकते है प्राणी उद्यान 121 एकड़ क्षेत्र में बना हुआ है इस zoo में अभी तक 31 प्रजातियों के 153 वन्यजीव लाये गए है और इसको बनाने की कुल लागत लगभग 260 करोड़ रुपये है

इस चिड़ियाघर में आपको अनेको प्रकार के जानवर तथा पक्षि देखने को मिलेंगे जैसे बाघ ,तेंदुआ ,शेर ,लकडबग्घा, चिता , जेब्रा , भालू , बन्दर , हिरन , मगरमच्छ ,  मोर , घड़ियाल , कछुआ , सांप ,  तोता , तितलियाँ , हाथी ,अनेक प्रकार के पक्षि इत्यादि दिखाई देंगे 

zoo in gorakhpur | गोरखपुर प्राणी उद्यान
अशफ़ाक उल्ला ख़ाँ प्राणी उद्यान

Gorakhpur Zoo timing | गोरखपुर चिड़ियाघर खुलने का समय | कब नहीं जाए चिड़ियाघर ?  –

चिड़ियाघर खुलने का समय प्रातः 9 बजे से सायं 5 बजे तक प्रत्येक सोमवार को साप्तहिक बंदी रहती है अगर आपको (gorakhpur prani udyan) घूमना है तो आप सोमवार के दिन ना जाए और हाँ अगर आप बब्बर शेर को देखने के लिए जाना चाहते है तो आप बारिश के दिनों में चिड़ियाघर ना जाएँ क्युकी बरसात के मौसम में शेर , बाघ , लंगूर ,भालू , हिरन , जंगली बिल्ली इत्यादि अपने-अपने बाड़े , गुफा में रहते है जो दिखाई नहीं देते है

places to visit in gorakhpur | गोरखपुर में घूमने के जगह-
Gorakhpur Zoo timing

Gorakhpur zoo ticket price | गोरखपुर चिड़ियाघर टिकट की कीमत –

प्राणी उद्यान में 6 साल तक के बच्चो का टिकट नहीं लगेगा 6 साल से लेकर 13 साल तक के बच्चो के टिकट की कीमत 25रू है तथा 13 साल से ऊपर के लोगो के टिकट की कीमत 50रू है

Gorakhpur zoo address | Where is the zoo in gorakhpur |  गोरखपुर में चिड़ियाघर कहाँ है ? – 

गोरखपुर रेलवे स्टेशन से लगभग 8 किमी की दुरी पर बुद्ध विहार रोड, रेल विहार कॉलोनी फेज 3 रामगढ ताल के पास स्थित है जिसका नाम शहीद अशफ़ाक उल्ला  ख़ाँ प्राणी उद्यान के नाम से रखा गया है इस Zoo में अभी  कुल 33 बाड़े हैं 

Gorakhnath Temple Gorakhpur Uttar Pradesh | गोरखनाथ मंदिर गोरखपुर –

गोरखनाथ मंदिर उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में स्थित है यहाँ के वर्तमान महंत श्री बाबा योगी आदित्यनाथ महाराज जी हैं और वर्तमान समय में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री भी है इस मंदिर में साल में एक बार खिचड़ी के शुभ अवसर पर 1 महीने का बहुत विशाल मेला लगता है जिसे लोग खिचड़ी मेला भी कहते है गोरखनाथ मंदिर 52 एकड़ के क्षेत्र में स्थित है इसी मंदिर के नाम पर गोरखपुर शहर का नाम पड़ा मंगलवार के दिन इस मंदिर में बहुत भीड़ होती है दूर-दूर से लोग यहाँ दर्शन करने के लिए आते हैं

places to visit in gorakhpur | गोरखपुर में घूमने के जगह-
gorakhnath temple

places to visit in gorakhpur | गोरखपुर में घूमने के जगह-
गोरखनाथ मंदिर गोरखपुर

Kushmi Jungle Gorakhpur | कुश्मी जंगल गोरखपुर-

कुश्मी जंगल जो गोरखपुर के रामगढ ताल से समीप कुशीनगर या देवरिया मार्ग में पड़ता है जिसमे बहुत सारे जानवर भी रहते है जैसे – लोमड़ी , हिरन ,बन्दर, इत्यादि इसी जंगल के बिच-बिच में रास्ते भी है इसी जंगल के बिच में एक स्थान है जो की बुढिया माता मंदिर के नाम से बहुत ही प्रसिद्ध है और इस जंगल के पास ही हवाई अड्डा भी है जिसके जरिये आप मुंबई , दिल्ली , वाराणसी , अलाहाबाद , लखनऊ , इत्यादि के लिए घरेलू उड़ान के जरिये जा सकते है बारिश के मौसम में इस जंगल का बहुत ही खुबसूरत नज़ारा देखने को मिलता है

places to visit in gorakhpur | गोरखपुर में घूमने के जगह
Kushmi Jangal Gorakhpur

places to visit in gorakhpur | गोरखपुर में घूमने के जगह-
कुश्मी जंगल गोरखपुर

 

Budhiya Mata Temple Gorakhpur |बुढिया माता मंदिर -🙏🙏

बुढिया माता मंदिर जो गोरखपुर में कुसम्ही जंगल से होकर जाना पड़ता है यह गोरखपुर का बहुत ही प्रसिद्ध मंदिर माना जाता है यहाँ हर दिन बहुत से लोग आते है और दर्शन करते है यहाँ का नज़ारा बहुत ही प्राक्र्तिक एवं सुन्दर है यहाँ बहुत सारे बन्दर भी रहते है लोग उन बंदरो से बहुत मस्ती करते है माना जाता है की अगर आप कोई भी मन्नत यहाँ सच्चे मन से मांगते है तो वह जरुर पूरा होता है इस मंदिर तक जाने का एक बात और है आपको प्राकृतिक का बहुत ही खुबसूरत नज़ारा देखने को मिलेगा 

places to visit in gorakhpur
बुढिया माता मंदिर गोरखपुर

Railway Museum gorakhpur | रेलवे संग्रहालय गोरखपुर  –

गोरखपुर रेलवे म्यूजियम में पूर्वोत्तर रेलवे का पहला इंजन रखा गया है जिसे 1874 ई. में लंदन से लाया गया था इस रेलवे म्यूजियम में पहले के जमाने की बहुत सी रेल के इंजन ,डब्बे देखने को मिलते है इसमें एक लाइब्रेरी  है जिसके अन्दर रेल संचलन से जुडी पुरानी टिकट , डाक , पुस्तके  , पांडुलिपियां , समय सारणी इत्यादि सहेज कर रखी गई हैं यह प्रतिदिन 12.00  बजे से रात के 8.00 बजे तक खुलता है इसमें प्रवेश करने के लिए टिकट लेना है जिसकी कीमत 10रू है और अन्दर बाल रेल (बच्चो के लिए) भी है जिसका अलग से किराया 10रू लगता है

गोरखपुर में घुमने के लिए अच्छा मौसम -😍

अगर आप यहाँ घूमना चाहते है तो आपके लिए सबसे अच्छा मौसम रहेगा बरसात का क्युकी बारिश के दिनों में यहाँ का नज़ारा ही कुछ अलग होता है सबसे अच्छा महिना अगस्त से फरवरी तक का माना जाता है क्युकी उस समय यहाँ का मौसम बहुत ही सुहावना बना रहता है और चारो तरफ आपको हरियाली ही हरियाली नज़र आती है जो आपके यात्रा का एक बहुत ही यादगार और शानदार अनुभव होता है 

Leave a Comment